हम लोग आज पक्षियों के बारे में कुछ रोचक जानकारी को जानेंगे। पक्षी अपना घोंसला कैसे बनाता है? पक्षी अपना घोंसला कहां बनाता है? किस पक्षी के घोसले किस तरह के होते हैं? इन सभी सवालों के जवाब आज के इस लेख में मिलेंगे। आज का हमारा TOPIC है :- पक्षी के घोंसला CTET EVS NOTES IN HINDI

पक्षी के घोंसला CTET EVS NOTES IN HINDI
rkrstudy.net

पक्षी के घोंसला से संबंधित प्रश्न CTET के प्रत्येक EXAM में पूछे जाते हैं। इसीलिए यह TOPIC बहुत ही महत्वपूर्ण है। अतः इसीलिए हम लोग इस TOPIC (पक्षी के घोंसला CTET EVS NOTES IN HINDI) को विस्तारपूर्वक आज अध्ययन करेंगे।

पक्षी अपना घोंसला क्यों बनाती है? [CTET EVS NOTES IN HINDI]

पक्षियां अनेकों प्रकार की होती है। सभी पक्षी अपना घोसला अलग-अलग ढंग से बनाती है। हमारा सवाल यह है कि पक्षी घोंसला क्यों बनाती है। जिस तरह से इंसान को रहने के लिए घर की आवश्यकता होती है उसी प्रकार से पक्षियों को भी एक घर की आवश्यकता होती है। लेकिन इंसान के घर और पक्षियों के घोसले में समानता के साथ-साथ कुछ अंतर भी पाया जाता है। मनुष्य अपना घर पूरी जिंदगी भर उपयोग करते हैं। पक्षी अपना घोंसला सिर्फ अंडा देने के लिए ही बनाती है। जब अंडे से बच्चे बाहर आ जाते हैं तो यह घोसले को छोड़ देते हैं।

चिड़ियाँ सिर्फ अंडे देने के लिए घोंसला बनाती है।

विभिन्न प्रकार के पक्षियों के घोसलें

[CTET EVS NOTES IN HINDI]

कलचिड़ी (इंडियन रोबिन) नामक पक्षी अपना घोंसला जमीन पर पड़े पत्थर के बीच खाली जगह में बनाती है तथा उसी में वह अंडा देती है।

वीवर पक्षी (जुलाही चिड़िया) अपना घोंसला लालटेन की तरह बनाती है जो रानियों से लटका हुआ होता है। घोंसला नर वीवर बनाता है तथा मादा वीवर उन सभी घोषणाओं को देखती है उनमें से जो उसे सबसे अच्छा लगता है उसमें ही वह अंडे देती है।

दर्जिन चिड़िया अपनी नुकीली चौथ की सहायता से पत्तों को सी लेती है और उसी के बीच बनी थैली को अंडे देने के लिए तैयार करती है।

शक्कर खोरा नामक पक्षी किसी छोटे पेड़ या झाड़ी के डाली पर अपना लटकता घोंसला बनाती है।

फाख्ता पक्षी कैक्टस (नागफनी) के कांटो के बीच अपना घोंसला बनाती है।

कोयल अपना घोंसला नहीं बनाती है वह कौआ के घोंसले में अंडे देती है तथा कौआ अपने अंडे के साथ-साथ कोयल के अंडे को सेता है।

चील सबसे ऊंचे पेड़ पर घोंसला बनाता है। इसका घोसला 4 से 5 फीट चौड़ा होता है।

गिद्ध अपना घोंसला सुनसान पेड़ों पर, खोखला में, चट्टानों के दरारों में बनाता है।

उल्लू पेड़ के किसी खोखले भाग को ही अपना घोंसला बना लेता है।

बसंत गौरी नामक पक्षी पेड़ के तने में घोंसला बनाती है।

कौआ पेड़ के सबसे ऊंची डाल पर अपना घोंसला बनाता है।

हमलोगों ने पक्षी के घोंसला CTET EVS NOTES IN HINDI के बारे में अध्ययन किया। इस लेख में बस इतना ही मैं उम्मीद करता हूं कि यह जानकारी आपके लिए काफी महत्वपूर्ण एवं उपयोगी होगा। इसी तरह के और भी रोचक जानकारी पाने के लिए तथा CTET में बेहतर अंक प्राप्त करने के लिए आप हमारे वेबसाइट rkrstudy.net के लेखों का नियमित अध्ययन करते रहें।

इसे भी पढ़ें :-

CTET Whatsapp Group : – Join Now

Read More –