संक्षारण किसे कहते हैं?अर्थ एवं परिभाषा

Topic →

  • संक्षारण किसे कहते हैं?
  • संक्षारण का अर्थ एवं परिभाषा
  • संक्षारण को रोकने का उपाय
  • लोहे की वस्तुओं को हम पेंट क्यों करते हैं?

संक्षारण किसे कहते हैं,अर्थ एवं परिभाषा

संक्षारण एक रासायनिक क्रिया है, जिसके फलस्वरूप धातुओं का क्षय एवं ह्रास होता है।

संक्षारण का अर्थ एवं परिभाषा

जब कोई धातु अपने आस-पास अम्ल या आद्रता के संपर्क में आता है तो वह अम्ल या आद्रता के साथ अभिक्रिया करता है अभिक्रिया के फलस्वरूप धातु ऑक्साइड, हाइड्रोक्साइड,कार्बोनेट इत्यादि में परिवर्तित हो जाता है जिससे धातुओ का क्षय होने लगता है अर्थात धातु संक्षारित होने लगता है इस प्रक्रिया को संक्षारण कहते हैं 

Example :-

  • लोहे से बानी वस्तु में जंग का लगना 
  • चाँदी का रंग काला होना
  • पीतल के सतह पर हरे रंग का परत
  • कॉपर से सतह पर हरे रंग का परत का बनना
  • उपरोक्त सभी प्रक्रिया संक्षारण की उदाहरण है
संक्षारण किसे कहते हैं,अर्थ एवं परिभाषा
rkrstudy.net

संक्षारण रोकने के उपाय

तेल या ग्रीस द्वारा – धातु की सतह पर तेल या ग्रीस की परत चढ़कर संक्षारण को रोका जा सकता है

पेंट वार्निश द्वारा – धातुओं को पेंट करके संक्षारण को रोका जा सकता है

विद्युत लेपन द्वारा – धातु की सतह पर विद्युत लेपन द्वारा नीकिल या क्रोमियम की परत चढ़ाई जाती है जिससे जंग लगने से बचा जा सकता है। अर्थात विद्युत लेपन के प्रयोग से संक्षारण को रोका जा सकता है

विद्युतीय रक्षण द्वारा – डीजल टैंक, पेट्रोल टैंक जो की जमीन के अंदर दबे रहते हैं उनको निम्न आयनन विभव वाले धातु, जैसे Mg या Zn की प्लेट को फिते द्वारा जोड़ देते है जिससे सक्रिय धातु क्रिया करती रहती है जबकि टैंक वाली धातु सुरक्षित बनी रहती है।

उपरोक्त सभी विधि संक्षारण रोकने के उपाय है 

लोहे की वस्तुओं को हम पेंट क्यों करते हैं?

लोहे से बने वस्तुओं को पेंट इसीलिए करते हैं, ताकि वह अम्ल या आद्रता के संपर्क में नहीं आ सके। जिससे लोहे की वस्तु का क्षय नहीं हो सके अतः हम कह सकते हैं कि संक्षारण से बचाने के लिए लोहे की वस्तु पर पेंट किया जाता है।

Read more topic →