आवास किसे कहते हैं? जीव जंतुओं के आवास, मनुष्य के आवास, विभिन्न क्षेत्रों में घरों की बनावट

REET, CTET, UPTET, HTET एवं अन्य TET Exam में “आवास” से प्रश्न पूछे जाते हैं इसीलिए हम लोग आवास से जुड़ी सारी बातों का अध्ययन करेंगे। हम लोग इस लेख में जानेंगे कि आवास किसे कहते हैं? आवास की परिभाषा क्या है? जीव जंतुओं के आवास किस प्रकार के होते हैं? मनुष्य के आवास किस प्रकार के होते हैं तथा साथ ही साथ हम लोग यह जानेंगे कि विभिन्न क्षेत्र में मनुष्य किस प्रकार के घर बनाते हैं?

आवास किसे कहते हैं? आवास की परिभाषा

किसी जीव का वह परिवेश जिसमें वह अपना जीवन यापन करता है, वह परिवेश उस जीव का आवास कहलाता है

⇒ सभी जीवो का अपना-अपना आवास स्थल होता है।
⇒ जीव जंतुओं का आवास अलग होता है तथा मनुष्य का आवास अलग होता है।

नीचे कुछ जीव जंतु तथा उसके आवास के बारे में बताया गया है:-

आवास जीव जंतु
बिल चूहा, सांप, खरगोश, चींटी।
घोंसला पक्षी
गुफा/मांद शेर, लोमड़ी, भालू
पेड़ की शाखाएं बंदर, चील, स्लाॅथ
घर छिपकली, कुत्ता, बिल्ली।
छत्ता मधुमक्खी, ततैया
पानी मछली, मगरमच्छ, घड़ियाल
बाड़ा/छप्पर गाय, भैंस, बकरी
अस्तबल घोड़ा
दड़वा मुर्गी
जंगल हाथी, जिराफ, जेब्रा
जाल मकड़ी

 

Note :- रजत मछली को छोड़कर सारी मछलियां पानी में रहती है।

जीव जंतु के आवास के बारे में हम लोगों ने बातें कर ली। अब मनुष्य के आवास के बारे में जानते हैं।

मनुष्य अपना आवास कई प्रकार से बनाते हैं। विभिन्न क्षेत्र के लोगों का आवास योजना प्रकार के होते हैं।

मनुष्य के घर का निर्माण निम्नलिखित कारणों पर निर्भर करता है :-

1. जगह की भौगोलिक स्थिति
2. जगह के जलवायु
3. उपलब्ध निर्माणकारी वस्तु

मनुष्य घर का निर्माण करते समय उस जगह की भौगोलिक स्थिति को देखते हैं। फिरोज क्षेत्र की जलवायु को देखते हैं एवं वहां पर उपलब्ध वस्तुओं के सहायता से घर का निर्माण करते हैं।

मिट्टी के घर

⇒ मिट्टी का घर घर मिलाकर में बनाया जाता है।
⇒ इन घरों की दीवार मोटी होती है ताकि गर्मी अंदर ना आ सके।
⇒ इस प्रकार के घर की छतें झाड़ियों तथा छप्पर की बनी होती है।

बॉस/लकड़ी के घर

इस प्रकार के घर उसी क्षेत्र में बनाए जाते हैं जहां अत्यधिक वर्षा होती है।
इस प्रकार के घर जमीन से 10-12 फुट ऊॅचे बांस के मजबूत खंभों पर बनाए जाते हैं।
भारत के असम राज्य में बांस का घर देखने को मिलता है।

ईट का घर

⇒ इस प्रकार के घर क्षमता क्षेत्रों में पाए जाते हैं।
⇒ भारत के मैदानी इलाके में इस प्रकार का घर पाए जाते हैं।

बर्फ का घर/इग्लू

⇒ इस प्रकार का घर बर्फीले इलाके में पाया जाता है।
⇒ बर्फ से बने घर को इग्लू कहा जाता है।

टेंट

⇒ यह लोगों का अस्थाई निवास का घर होता है।
⇒ यह अलग-अलग क्षेत्र में अलग-अलग चीजों से बनता है।

आज के इस लेख में हम लोगों ने आवास के बारे में जाना। आवास किसे कहते हैं? मनुष्य के आवास क्या है? विभिन्न प्रकार के जीव जंतुओं के आवास कौन-कौन से हैं? तथा विभिन्न क्षेत्रों में किस प्रकार के घर बनाए जाते हैं इन सबों के बारे में अध्ययन किया।

Read more :-

CTET Preparation Group