लघु एवं कुटीर उद्योग क्या है? लघु उद्योग एवं कुटीर उद्योग के महत्व एवं विशेषताएं

आज के लेख में हम लोग लघु एवं कुटीर उद्योग के बारे में अध्ययन करेंगे। हम लोग जानेंगे कि उद्योग किसे कहते हैं? उद्योग किसे कहते हैं? लघु एवं कुटीर उद्योग क्या है? लघु एवं कुटीर उद्योग के महत्व एवं विशेषताएं कौन-कौन से हैं।

उद्योग किसे कहते हैं?

किसी वस्तु का बड़े पैमाने पर निर्माण करने की प्रक्रिया को उद्योग कहते हैं।

उद्योग कितने प्रकार के होते हैं?

उद्योग को को तीन भागों में बांटा गया है:-

1. कुटीर उद्योग
2. लघु उद्योग
3. वृहत उद्योग

लघु एवं कुटीर उद्योग क्या है? (For CTET, REET, UPTET, MPTET, HTET & Other State TET Exams)

कुटीर उद्योग किसे कहते हैं?

वैसा उद्योग जिस का संचालन एक स्वतंत्र कारीगर द्वारा उसकी व्यक्तिगत पूंजी से बहुत छोटे से पैमाने पर किया जाता हो उसे कुटीर उद्योग कहते हैं।

  • कुटीर उद्योग में अगरबत्ती निर्माण, मिट्टी के बर्तन बनाना, मसाला बनाना, फर्नीचर बनाना, नमकीन बनाना इत्यादि जैसे सामानों का उत्पादन किया जाता है।
  • इस उद्योग में कुशल कारीगर अपने हाथों से वस्तुओं का निर्माण करता है।
  • कुटीर उद्योग के घर पर चलाए जाने वाला उद्योग है।
  • इस उद्योग में कारीगर खुद का मेहनत करते हैं। कुटीर उद्योग में मशीन का प्रयोग नहीं किया जाता है।
  • कुटीर उद्योग में एक व्यक्ति या घर के अन्य व्यक्ति मिलकर वस्तुओं का निर्माण करते हैं।

लघु उद्योग किसे कहते हैं?

वैसा उद्योग जिसमें विनिर्माण, उत्पादन एवं सेवाएं छोटे पैमाने पर किया जाता है उसे लघु उद्योग कहते हैं।

  • लघु उद्योग के निर्माण करने की लागत एक करोड़ से अधिक नहीं होती है।
  • इस उद्योग में अगरबत्ती बनाना, मोमबत्ती बनाना, साबुन तेल का निर्माण, कपड़े का निर्माण इत्यादि किया जाता है।
  • लघु उद्योग में व्यक्ति के साथ-साथ मशीनों का भी उपयोग किया जाता है।
  • Laghu उद्योग कुटीर उद्योग के तुलना में थोड़ा सा बड़ा उद्योग होता है।

लघु एवं कुटीर उद्योग के महत्व एवं विशेषताएं

  • लघु एवं कुटीर उद्योग से लोगों को रोजगार प्राप्त होता है।
  • इससे देश की अर्थव्यवस्था में सुधार होती है।
  • इस प्रकार के उद्योग से लोग आत्मनिर्भर बनते हैं।
  • अत्यधिक वस्तुओं के निर्माण होने से देश आत्मनिर्भर बनता है।
  • लघु एवं कुटीर उद्योग से निर्माण क्षेत्र को बढ़ावा मिलता है।
  • लघु एवं कुटीर उद्योग से बेरोजगारी जैसी समस्याएं लगभग खत्म हो जाती है।

आज के लेख में हमलोगों ने लघु एवं कुटीर उद्योग के बारे में अध्ययन किया। हमलोगों ने जाना कि उद्योग किसे कहते हैं? उद्योग किसे कहते हैं? लघु एवं कुटीर उद्योग क्या है? लघु एवं कुटीर उद्योग के महत्व एवं विशेषताएं कौन-कौन से हैं।

Read More :- 

  • पारिस्थितिकी तंत्र (Ecosystem) क्या है? Click Here
CTET Preparation Group पारिस्थितिकी तंत्र (Ecosystem) क्या हैCLICK HERE

 

यदि आप  CTET या  TET EXAMS की तैयारी कर रहें हैं तो RKRSTUDY.NET पर TET का बेहतरीन NOTES उपलब्ध है NOTES का Link नीचे दिया गया है :-