NCERT CLASS 5 EVS NOTES FOR CTET IN HINDI

आज हम लोग NCERT CLASS 5 EVS NOTES FOR CTET IN HINDI के बारे में अध्ययन करेंगे। हमने NCERT CLASS 5 के EVS के संपूर्ण NOTES को बिंदु के रूप में संग्रहित किया है जिसे आप आसानी से पढ़कर याद कर सकते हैं।

NCERT CLASS 5 EVS NOTES FOR CTET IN HINDI

NCERT CLASS 5 EVS NOTES FOR CTET IN HINDI
rkrstudy.net
यदि आप  CTET या  TET EXAMS की तैयारी कर रहें हैं तो RKRSTUDY.NET पर TET का बेहतरीन NOTES उपलब्ध है NOTES का Link नीचे दिया गया है :-

चींटी

चीटियां चलते समय जमीन पर कुछ ऐसा छोड़ती है जिसे सुनकर पीछे आने वाले चीटियों को रास्ता मिल जाता है। इसीलिए हम लोग देखते हैं कि चीटियां हमेशा एक लंबी कतार में क्रमबद्ध चलती रहती है।

मच्छर

मच्छर हमारे शरीर की गंध, तलवे के गंध और हमारे शरीर की गर्मी से हमें ढूंढ लेता है।

रेशम का कीड़ा

रेशम का कीड़ा अपनी मादा को उसकी गंध से कई किलोमीटर दूर से ही पहचान लेता है।

कुत्ता

कुत्ता चलते समय रास्ते पर मल मूत्र का त्याग करता है जिससे उसे रास्ते को पहचानने में आसानी मिलती है।

पक्षी से जुड़े रोचक तथ्य [NCERT CLASS 5 EVS NOTES FOR CTET IN HINDI]

पक्षियों के आंख उनके सिर के दोनों तरफ होती है इसीलिए पक्षी एक समय में दो अलग-अलग चीजों पर नजर डाल सकता है।

ज्यादातर पक्षी की आंखें की पुतली नहीं घूम पाती है इसीलिए वह अपनी गर्दन घुमा कर आसपास के चीजों को देखता है।

चील, बाज और गीत जैसे पक्षी हम से 4 गुना ज्यादा दूरी से देख पाता है।

रात में जागने वाले जानवर हर चीज को सफेद और काली रंग में ही देख पाते हैं।

सांप के पास बाड़ी का नहीं होता है वह जमीन पर हुए कंपन को ही सुन पाता है।

मछलियां खतरे की चेतावनी एक दूसरे को बिजली तरंगों से देती है।

स्लाॅथ के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

स्लाॅथ भालू के जैसे दिखते हैं। यह दिन में लगभग 17 घंटे पैरों से उल्टे सिर लटकाकर मस्ती से सोते हैं। यह जिस पेड़ पर रहते हैं उसी के पत्ते खाकर पलते हैं। जब यह पेड़ के सारे पत्ते खा लेते हैं तब वे फिर से उतरकर पास के पेड़ पर चले जाते हैं। लगभग 40 साल के उम्र में यह मुश्किल से आर्ट्स पेड़ पर घूमने की तकलीफ उठाता है। यह सप्ताह में एक बार सोच करने के लिए पेड़ से नीचे उतरता है।

बाघ

बाघ अंधेरे में हम से 6 गुना बेहतर देख पाता है।

बाघ की मूंछे हवा में हुए कंपनी को भांप लेती है और उससे उसे शिकार की बिल्कुल सही स्थिति का पता चल जाता है। इससे इन्हें अंधेरों में रास्ता ढूंढने में भी मदद मिलती है।

बाघ का गर्जना लगभग 3 किलोमीटर दूर तक सुना जा सकता है।

बाघ हवा से पत्तों के हिलने और शिकार से झाड़ियों में हिलने से हुई आवाज में अंतर को भाप लेता है।

बाघ के दोनों कान बाहर की आवाज पहचानने के लिए अलग-अलग देशों में बहुत ज्यादा घूम भी जाते हैं।

उत्तराखंड का जिम काॅरबेट नेशनल पार्क और राजस्थान के भरतपुर जिले में घाना पार्क में जानवरों का शिकार करना मना है।

बीन, तुंबा, खंजरी और ढोल। इन चारों में से ढोल के अलावा बाकी तीन है वाद्य यंत्र सुखी लौकी से बनाए जाते हैं।

सांप

हमारे देश में पाए जाने वाले सांपों में से केवल 4 तरह के सांप जहरीले होते हैं। यह सांप है :- नाग, करैत, दुबोइया और अफाई।

सीरम एक दवा है जो सांप काटे हुए व्यक्ति को दिया जाता है। सीरम सांप के जहर से ही बनाया जाता है और यह सभी सरकारी स्वास्थ्य केंद्र में मिलता है।

सरकार ने कानून बनाया है कि ना कोई जंगली जानवरों को पकड़ सकता है और ना ही उन्हें अपने पास रख सकता है।

शिकारी पौधे नीपेन्थिस

नीपेन्थिस एक ऐसा पौधा है जो चूहा, मेढक, कीड़े मकोड़े और छोटे जीवों का शिकार करती है। नीपेन्थिस नामक शिकारी पौधे ऑस्ट्रेलिया, इंडोनेशिया और भारत के मेघालय राज्य में पाया जाता है। इस पौधे का आकार लंबे घरे जैसा होता है जिसके ऊपर पति का ढक्कन लगा होता है। घड़े से खास खुशबू निकलती रहती है जिसके वजह से कीड़े मकोड़े पौधे के अंदर पहुंच जाते हैं और फस जाते हैं।

हमारे देश में सब्जियां कहां से आई है?

मिर्ची हमारे देश में दक्षिण अमेरिका से आई है। जिसे पुर्तगाल देश के व्यापारी ने लाए थे।

भिंडी हमारे देश में अफ्रीका से आई है।

गोभी तथा मटर हमारे देश में यूरोप से आई है।

सोयाबीन हमारे देश में चीन से आई है।

अल- बिरूनी [NCERT CLASS 5 EVS NOTES FOR CTET IN HINDI]

1000 से भी ज्यादा साल पहले एक यात्री भारत में आए थे जिनका नाम अल- बिरूनी है। अल- बिरूनी उज़्बेकिस्तान देश से भारत में आए थे।

राजस्थान में जैसलमेर के अलावा बहुत से ऐसे इलाके हैं जहां साल में बहुत ही कम दिन बारिश होती है।

मृत सागर क्या है?

मृत सागर दुनिया का सबसे नमकीन सागर है। यह सागर इतना नमकीन है कि लगभग 1 लीटर पानी में 300 ग्राम नमक है। सबसे मजे की बात तो यह है कि मृत सागर में हम ऐसे तैर सकते हैं जैसे आराम से लेटे हो।

दांडी यात्रा क्या है तथा दांडी यात्रा कब हुई?

अंग्रेजों के द्वारा आम लोगों के नमक बनाने पर रोक लगाने पर महात्मा गांधी के नेतृत्व में लोगों ने एक साथ मिलकर आह्मदाबाद से दांडी के समुद्र तट तक एक लंबी यात्रा की घटना है।

दांडी यात्रा 1930 में हुई थी।

मलेरिया क्या है?

मलेरिया मादा मच्छर एनाॅफिलिस के काटने से फैलता है।

मलेरिया खून की जांच से पता चलता है।

मलेरिया की दवाई पुराने जमाने में सिनकोना पेड़ की छाल से बनाई जाती थी।

मच्छर के काटने से मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया हो सकता है।

अनीमिया क्या है?

खून में हीमोग्लोबिन या आयरन की कमी से अनीमिया नामक रोग हो जाता है।

अनीमिया से बचने के लिए गुड़, आंवला और हरी पत्तेदार सब्जियां खाना चाहिए।

माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली प्रथम भारतीय महिला

बछेंद्री एवरेस्ट पर चढ़ने वाली पहली भारतीय महिला है। बछेंद्री ने 23 मई 1984 को दिन में 1:07 पर 8900 मीटर ऊंची माउंट एवरेस्ट पर कदम रखी।

माउंट एवरेस्ट का नेपाली नाम सागरमथा है।

ग्लोब में भारत के ठीक विपरीत ब्राज़ील और अर्जेंटीना देश है।

तारे अक्षर टिमटिमाते रहते हैं।

टूटता तारा को उल्कापिंड कहते हैं जो पृथ्वी के वायुमंडल में आते ही जल जाता है।

चांद पर पहुंचने वाला प्रथम व्यक्ति कौन है?

चांद पर पहुंचने वाला प्रथम व्यक्ति नील आर्मस्ट्रांग है जो सन 1969 में चांद पर सबसे पहले कदम रखा था।

सुनीता विलियम्स अंतरिक्ष में सबसे लंबे समय तक रहने वाली प्रथम महिला है।

एलपीजी, मोम, कोलतार, ग्रीस जमीन के अंदर से प्राप्त होते हैं।

प्लास्टिक और पेंट को बनाने के लिए भी तेल का इस्तेमाल किया जाता है।

ठंडा रेगिस्तान लेह और लद्दाख

लेह और लद्दाख को ठंडा रेगिस्तान कहते हैं। यह इलाका सूखा, समतल और ठंडा होता है। लद्दाख में बहुत ही कम बारिश होती है यहां दूर-दूर तक बर्फ से ढके पहाड़ और सूखा मैदान होता है।

लद्दाख के पहाड़ों पर इतना सुखा माहौल होता है कि वहां पर पौधे नहीं उठ पाते हैं।

पशमीना शॉल क्या है?

एक पशमीना शॉल में लगभग 6 स्वेटरों के बराबर गर्मी होती है।

पशमीना शॉल को मशीनों के द्वारा नहीं बोला जा सकता है क्योंकि यह बकरी के बहुत ही पतले बाल से बनता है।

यदि एक बुनकर 250 घंटे तक बुनाई करता है तब जाकर एक साधारण पशमीना शॉल तैयार होता है।

कश्मीर के लोग खाने के लिए रोटी घर में नहीं बनाते हैं, वह रोटी को दुकान या बेकरी से ही खरीदते हैं।

NCERT CLASS 5 EVS NOTES FOR CTET IN HINDI

हाउसबोट क्या होता है ?

हाउसबोट 80 फुट तक लंबे तथा बीच में 8 से 9 फुट चौड़ाई वाले एक नाव की तरह होता है। इसमें श्रीनगर में बाहर से आए हुए पर्यटक लोग रहते हैं।

किसानों का मित्र केंचुए

केंचुए जमीन में छेद बनाती है जिससे जमीन पोली हो जाती है। इन केंचुए के मल से जमीन उपजाऊ बनती है।

कुड़ुक भाषा झारखंड की भाषा है।

जंगल का अधिकार कानून 2007

यह कानून आदिवासियों को जंगल पर उनका हक दिलाता है। जो लोग कम से कम 25 साल से जंगल में रह रहे हैं उनका वहां के जंगल और वहां पैदा होने वाली चीजों पर हक है। उन लोगों को जंगल से हटाया नहीं जा सकता है।

झूम खेती क्या है? [ncert evs notes for ctet]

मिजोरम में झूम खेती होती है।

झूम खेती में मिट्टी को हल्के से हिला कर बीज रख देते हैं। एक ही खेत में अलग-अलग तरह के बीज जैसे मकई, सब्जियां, मिर्च और चावल बो दिए जाते हैं।

झूम खेती में खेत में अनचाही घास उग जाते हैं तो उसको उखाड़ते नहीं है बल्कि उसे जमीन पर गिरा देते हैं जिसे जमीनों उपजाऊ बनती है।

टीन खेती किसे कहते हैं?

एक टीन बीज को जितने जमीन में बोते हैं उसे एक टीन जमीन कहते हैं तथा इस प्रकार के खेती को टीन खेती कहते हैं।

चराओ नाच मिजोरम में होती है।

आज हम लोगों ने NCERT CLASS 5 EVS के सभी मुख्य बिंदुओं को पढ़ा। यह सभी मुख्य बिंदु आगामी होने वाले शिक्षक पात्रता परीक्षा (TEACHER ELIGIBILITY TEST) TET के लिए काफी महत्वपूर्ण है। मैं उम्मीद करता हूं कि यह लेख आप लोगों के लिए उपयोगी रहेगा। इसी तरह के और भी रोचक पोस्ट के लिए आप हमारे इस वेबसाइट rkrstudy.net पर नियमित अध्ययन करते रहें। धन्यवाद!!

Read More –