प्रश्न निर्माण करने की प्रक्रिया क्या है? For CTET, B.Ed & D.El.Ed

आज हमलोगो जानेंगे कि प्रश्न का निर्माण कैसे किया जाता है? प्रश्न के निर्माण करने का चरण कौन सा है तथा अच्छे प्रश्नों की विशेषताएं क्या है? तो चलिए हमलोग जानते हैं कि प्रश्न निर्माण करने की प्रक्रिया क्या है?

प्रश्न निर्माण करने की प्रक्रिया क्या है? मूल्यांकन की प्रक्रिया को सफल बनाने के लिए एक आदर्श प्रश्नों का निर्माण करना अति आवश्यक होता है। बच्चों के ज्ञान, छवि और भावनाओं का पता लगाने का सबसे उत्कृष्ट तरीका मूल्यांकन होता है और उस मूल्यांकन को बच्चों से प्रश्न पूछ कर या बच्चों के सामने समस्याओं को रखकर किया जाता है।

प्रश्न निर्माण करने की प्रक्रिया क्या है?
rkrstudy.net

अच्छे प्रश्नों का निर्माण करना शिक्षकों के लिए एक बड़ी चुनौती है।

अच्छे प्रश्नों की विशेषताएं क्या है?

उद्देश्य पर आधारित

उद्देश्य पर आधारित प्रश्न पूर्व निर्धारित उद्देश्यों पर आधारित होने चाहिए और इन्हें इस तरीके से तैयार किया जाना चाहिए की इससे उद्देश्य का प्रभावी परीक्षण हो सके।

अनुदेश

इसके माध्यम से उसे विशेष कार्य सौंपा जाना चाहिए इस प्रयोजन के लिए समुचित निर्देशात्मक शब्द का प्रयोग किया जाना चाहिए और वाक्य संरचना की स्थिति का उल्लेख किया जाना चाहिए।

विषय क्षेत्र

इस क्षेत्र में विषय क्षेत्र में प्रश्नों के उत्तर की सीमा का क्षेत्र या  उत्तर की लंबाई कितनी हो इन सब बातों का उल्लेख किया जाना चाहिए।

विषय वस्तु

जिस विषय वस्तु के बारे में बालकों को प्रशिक्षण दिया गया हो उसी विषय वस्तु से संबंधित परीक्षण होना चाहिए।

भाषा

अच्छे प्रश्न स्पष्ट, संक्षिप्त और दुविधा रहित भाषा में तैयार किया जाना चाहिए जो बालकों के समझ में आसानी से आ जाए।

कठिनाई का स्तर

प्रश्नों का निर्माण उस बालकों के ध्यान में रखते हुए तैयार करना चाहिए जिससे यह प्रश्न पूछा जाना है प्रश्न की कठिनाई विद्यार्थी के क्षमता के अनुरूप होनी चाहिए।

प्रश्न निर्माण करने की प्रक्रिया क्या है?

शक्ति का अंतर

अच्छे प्रकार के प्रश्न में मेधावी विद्यार्थी और सामान्य विद्यार्थियों को ध्यान में रखा जाता है।

उत्तर सीमा का क्षेत्र पुनः निर्धारित करना

प्रश्न की भाषा इतनी सटीक और संक्षिप्त होनी चाहिए जिससे संभावित उत्तर की सीमा स्पष्ट हो सके। प्रश्नों के अंकों के अनुसार इस प्रश्न के उत्तर सीमा निर्धारित करनी चाहिए।

मूल्यबिंदु

पूरे प्रश्न के लिए और उसके उप भागों के लिए मूल्यबिंदु या अंको का स्पष्ट उल्लेख किया जाना चाहिए।

आज हमलोगो ने जाना की प्रश्न निर्माण करने की प्रक्रिया क्या है? प्रश्न के निर्माण करने का चरण कौन सा है? अच्छे प्रश्नों की विशेषताएं क्या है? तो चलिए हमलोग जानते हैं कि प्रश्न का निर्माण कैसे करते हैं?

Read More –

CTET Whatsapp Group : – Join Now