श्वसन (Respiration) किसे कहते हैं? वायवीय श्वसन अवायवीय श्वसन

हमारे "CTET PREPRATION" Whatsapp ग्रुप को अभी Join करें......CLICK HERE

श्वसन (Respiration) किसे कहते हैं? वायवीय श्वसन अवायवीय श्वसन क्या है?

श्वसन एक प्रक्रिया है जो सभी जीवो के लिए आवश्यक है तथा सभी सजीव बिना श्वसनकी प्रक्रिया के जीवित नहीं रह सकते हैं।

(Respiration) श्वसन क्या होता है?

वैसी क्रियाओं के सम्मिलित रूप को कहते हैं जिसमें वातावरण से ऑक्सीजन ग्रहण कर शरीर के कोशिकाओं में पहुंचाया जाता है जहां पर इसका उपयोग ग्लूकोज के ऑक्सीकरण में होता है जिससे हमारे शरीर को ऊर्जा मिलती है तथा इस क्रिया से उत्पन्न कार्बन डाइऑक्साइड को फिर कोशिका से शरीर के बाहर निकाल दिया जाता है।

श्वसन की परिभाषा क्या है?

श्वसन एक जटिल प्रक्रिया हैं। जिसके अंतर्गत ऑक्सीजन व कार्बन डाइऑक्साइड गैसों का विनिमय एवं खाद्य का ऑक्सीकरण होता जिसके पास और हमारे शरीर को ऊर्जा मिलती है।

(Respiration) श्वसन के प्रकार

श्वसन को दो भागों में विभाजित किया गया है।

  1. वायवीय श्वसन (Anaerobic Respiration)
  2. अवायवीय श्वसन (Aerobic Respiration)

अवायवीय श्वसन (Aerobic Respiration) किसे कहते हैं?

यह श्वसन की प्रक्रिया का प्रथम चरण होता है जिसके अंतर्गत ग्लूकोज का आंशिक विखंडन ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में होता है। इस क्रिया के द्वारा एक अणु ग्लूकोज से दो अणु पायरुवेट का निर्माण होता है। यह प्रक्रिया कोशिका द्रव्य में होती है।

यानी कि हम लोग कह सकते हैं कि अवायवीय श्वसन श्वसन में गुलकोज का सिर्फ आंशिक विखंडन ही होता है और इसमें ऊर्जा का मात्रा में ही मुक्त हो पाती है।

वायवीय श्वसन (Anaerobic Respiration) किसे कहते हैं?

वायवीय शोषण में प्रथम चरण में बना पायरुवेट पूर्ण ऑक्सीजन की उपस्थिति में माइटोकॉन्ड्रिया में चला जाता है। माइटोकॉन्ड्रिया में तीन कार्बन वाले पायरुवेट अणु का विखंडन होता है जिससे तीन कार्बन डाइऑक्साइड के अणु बनते हैं। इसके साथ-साथ जल तथा रासायनिक ऊर्जा भी मुक्त होती है।

Read more :-

इसे जरूर पढ़ें :-

CTET PREPRATION WHATSAPP GROUP Join Now